Follow by Email

Saturday, June 8, 2013

पर्यावरण.गंगा और हम

गंगा एक्शन प्लान सरकार का सबसे बड़ा छलावा
पिछले महीने बेटी के मुंडन संस्कार के लिए संगम (इलाहाबाद) जाना हुआ .गंगा स्नान करते समय मेरी 3 साल की बेटी ने तोतली जबान से कहा पापा पानी गंदा है ,मैंने कहाँ हाँ .उसने फिर पूँछा पानी क्यों गंदा है ?अब मै उसे क्या बताता कि पानी क्यों गंदा है ,ये सोच ही रहा था तो उसने कहा इसको हटा दो (पानी में फूल ,नारियल इत्यादि )तो अच्छा हो जायेगा न !!..उसकी इस बात से मै हतप्रभ रह गया ..कई दिनों तक सोचता रहा कि जो बात एक छोटी सी बच्ची की समझ में आ जाती है वो सरकारों /नेताओं को क्यों समझ में नहीं आती ?गंगा एक्शन प्लान सरकार का सबसे बड़ा छलावा है जिसमें अरबों रुपयें कागज पर खर्च किये जा रहें है ..भाई आप गंगा में गंदगी /केमिकल डालना छोड़ दे तो गंगा ,यमुना एक साल के भीतर पूरी तरह से स्वच्छ हो जायेगी ..इसमें हजारों करोड़ रुपये खर्च करने की जरुरत ही नहीं है ..ये पैसे तो सिर्फ भ्रष्टाचार /जेब में भरने के लिए है ...सोचता हूँ जो बात एक बच्चे की समझ में आ जाती है वो बातें सरकारों के समझ में क्यों नहीं आती ?बड़ी -बड़ी बैठके होती है ,पर्यावरण को बचाने के लिए करोड़ों रुपये बैठकों में खर्च हो जाता है ..लेकिन होता कुछ नहीं है ..हम सब लोग जिस कथित विकास की बेहोशी में जी रहें है एक दिन यही हमारे विनाश का कारण बनेगी ..आप देख लेना ..

No comments:

Post a Comment