Follow by Email

Tuesday, April 16, 2013

DNA में प्रकाशित मेरी कविता -बेटी पर

कुछ समय पहले अपनी बेटी आन्या के लिए एक कविता लिखी थी जो कल (14april13)प्रकाशित हुई ..असल में मुझे लेख लिखने के बजाय कविता लिखना ज्यादा अच्छा लगता है ,कवितायेँ मेरे दिल के ज्यादा करीब लगती है ....कविताये पढ़ कर और लिख कर बहुत सुकून मिलता है 
DNA
Poem link(click to see)
http://www.dailynewsactivist.com/Details.aspx?id=24393&boxid=28096678&eddate=4/14/2013

No comments:

Post a Comment