Follow by Email

Monday, April 29, 2013

चीन के मामले में हम शांतिप्रिय है न !!!


रक्षाबंधन हमारे देश का त्यौहार है लेकिन इसमें प्रयोग होने वाली 80 फीसदी राखियां चीन की ,दीवाली में भी 80 फीसदी पटाखे चीन के ,देश के इलेक्ट्रानिक्स बाजार पर चीन का ही आधिपत्य है ,हमारे देश की कई हजार वर्ग किलोमीटर भूमि पहले ही दबाये हुए है ,अब वो हमारी सीमा में 10 किलोमीटर अंदर घुस आया ..लेकिन इतने पर भी हमारे देश के रहनुमाओं /नेताओं को कुछ नहीं दिखता ,वो ये सब देखना भी नहीं चाहते ...शांतिप्रिय है न !!!...इस पर एक शेर याद आ रहा है 
"जिन कहारों पर विश्वास डोली सौप कर ,वे ही यदि बटमार हो जाएँ तो बोलों क्या करे .."

No comments:

Post a Comment